Delhi Violence: दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में 600 से ज्यादा लोग

Delhi Violence

नई दिल्ली। Delhi Violence: दिल्ली में पिछले 5 दिनों से जारी हिंसा के खत्म होने के बाद दिल्ली पुलिस ने 600 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है। हिंसा ग्रस्त इलाके में पुलिस और पैरा मिलिट्री जवानों ने रातभर गश्ती लगाई। मौजपुर, भजनपुरा, यमुना विहार, सीलमपुर, करावल नगर, जाफराबाद जैसे संवेदनशील इलाकों में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

Delhi Violence के मद्देनजर पुलिस लोगों से सावधानी बरतने को कह रही है। साथ ही पुलिस ने लोगों से अपील की है कि किसी भी प्रकार के अफवाहों पर ज्यादा ध्यान न दें। बता दें कि दिल्ली हिंसा में अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसा से ग्रस्त उत्तर-पूर्वी दिल्ली में जन-जीवन धीरे-धीरे सामान्य हो रही है।

यह भी पढ़ें -   बिहार में कोरोना संक्रमित हुए 6103, 36 की मौत

पुलिस के अनुसार, हिंसा ग्रस्त इलाकों में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अबतक 123 एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। दिल्ली पुलिस ने फिलहाल 600 से ज्यादा लोगों को गिरफ्त में लेकर पूछताछ कर रही है।

दिल्ली पुलिस हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में शांति बहाली के लिए अमन कमेटी की मीटिंग करवा रहे हैं। पुलिस की नजर अब सोशल मीडिया पर है। फेक मैसेज और वीडियो फैलाने वालों को पुलिस ने कहा है कि उनके खिलाफ बहुत ही सख्ती के साथ कार्रवाई की जाएगी। पुलिस के मुताबिक, फेक मैसेज के खिलाफ साइबर सेल में कोई भी व्यक्ति शिकायत दर्ज करा सकता है।

यह भी पढ़ें -   महाराष्ट्र का सियासी संग्राम, बीजेपी की गुगली में एनसीपी, कांग्रेस, शिवसेना बोल्ड

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध लेकर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में धरना और प्रदर्शन शुरू हुआ था। जो धीरे-धीरे बाद में हिंसा में तबदील हो गया। सीएए समर्थक और विरोधी एक-दूसरे से आपस में भिड़ गए। उत्तर-पूर्वी दिल्ली फैली हिंसा में आईबी कर्मचारी अंकित शर्मा और दिल्ली पुलिस का कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई थी।