महिला दिवस के मौके पर मेलबर्न में दुनिया देखेगी भारत की शक्ति

महिला दिवस

नई दिल्ली। देश और दुनियाभर में 8 मार्च यानी की आज हर साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में  मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों के साथ विश्व शांति को बढ़ावा देना है। साथ ही समाज में हर वर्ग  के प्राणी को महिला के अधिकारों तथा उसकी महत्ता से देश और दुनिया को अवगत करवाना है।

कहा जाता है कि भारत पुरूष प्रधान देश है लेकिन आज ये कहना गलत नहीं होगा कि एक महिला न जाने कितने रूपों में अपनी भूमिका निभाती आई है। आज जहां महिला एक सफल ग्रहणी के रूप में अपना घर और परिवार संभालती है, तो ये कहना कतई गलत नहीं होगा कि देश की रक्षा में भी  महिलाओं ने अपना लोहा मनवा रखा है।

बात दें कि आज महिला दिवस के मौके पर मेलबर्न में टी20 महिला वर्ल्ड कप का फाइनल हो रहा है। ये मुकाबला मेजबान ऑस्ट्रेलिया की टीम से हो रही है। अगर ऐसे में भारत खिताब जितता है तो पहली बार महिला क्रिकेट को आईसीसी ट्रॉफी मिलेगी। भारत में जहाँ पुरूषों की भूमिका देखने को मिलती थी आज वहीं पूरे देश को भारतीय महिला  खिलाड़ियों से उम्मीदें है।

यह भी पढ़ें -   दुनिया में कोरोना संकट- अब तक सिर्फ 3 बार रद्द हुआ है ओलंपिक

बता दें कि उनमें पंजाब के मोगा की कप्तान हरमनप्रीत कौर, हरियाणा के रोहतक की बल्लेबाज शेफाली वर्मा और आगरा की पूनम यादव सबसे खास है। इन तीनों के ऊपर पूरे देश की नजर टिकी हुई है।