बिक सकती है फिल्पकार्ट, इन कंपनियों में मची फिल्पकार्ट को खरीदने की होड़

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन ई-कॉमर्स कंपनी फिल्पकार्ट बिकने वाली है। अभी देश में अमेजॉन और फिल्पकार्ट में कड़ी टक्कर है। फिल्पकार्ट अमेजॉन को ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कड़ी टक्कर दे रही है। हालांकि फिल्पकार्ट अभी दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट से गठजोड़ करने की सोच रही है। दरअसल, ऐमजॉन और वॉलमार्ट, दोनों ही अमेरिकी कंपनियां हैं जो भारत के ऑनलाइन रिटेल स्पेस में अपना दबदबा कायम करने की कोशिश कर रही हैं।

खबरों के मुताबिक अमेजॉन ने फ्लिपकार्ट के बड़े हिस्से की खरीदारी की संभावना तलाशने के लिहाज से शुरुआती चर्चा की है लेकिन बिजनस न्यूजपेपर मिंट के मुताबिक फ्लिपकार्ट की डील वॉलमार्ट के साथ होने की ज्यादा संभावना है। बता दें कि अभी के समय में भारतीय बाजार में अमेजॉन और फ्लिपकार्ट का इंडियन ऑनलाइन मार्केट पर दबदबा है। जानकारों के मुताबिक हालांकि ऐसी संभावना कम ही है कि फिल्पकार्ट की डील अमेजॉन के साथ हो। लेकिन अगर फिल्पकार्ट की डील अमेजॉन के साथ हो जाती है तो भारत में अमेजॉन का एकछत्र राज हो जाएगा।

हालांकि इस मामले में अभी अमेजॉन कुछ भी टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया है। बताया जा रहा है कि वॉलमार्ट की बातचीत फ्लिपकार्ट में 40 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की चल रही है। ऐसा हुआ तो वॉलमार्ट की विदेश में अब तक की सबसे बड़ी डील होगी। इस डील से वॉलमार्ट को भारत के ई-कॉमर्स मार्केट में कदम रखने का मौका मिल जाएगा। कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए दो बड़ी कंपनियों ने ऑफर करने का मन भी बना लिया है।

यह भी पढ़ें -   Jio Payment Bank को आरबीआई की मिली मंंजूरी, ग्राहकों के लिए खुशखबरी

सैम मानेकशॉ ने जब इंदिरा गांधी को कहा था, ‘मैं तैयार हूं स्वीटी’

मॉर्गन स्टैनली के अनुसार, इंडियन ई-कॉमर्स मार्केट अगले 10 सालों में 200 अरब डॉलर का हो जाएगा। जिस गति से इस बाजार में संभावनाएँ बढ़ रही है, दोनों ही कंपनियां भारत में अपना बिजनेस बढ़ाने की सोच रही है। लेकिन भारत में फिल्पकार्ट के प्रति ग्राहकों के विश्वास को देखते हुए वे ऐसा करने में फिसल रहे हैं। लिहाजा ऐसा संभावना है कि दोनों ही कंपनियां फिल्पकार्ट के एक बड़े हिस्से को खरीदने के लिए फिल्पकार्ट को रकम ऑफर कर सकती है। लेकिन अभी इस मामले में दोनों कंपनियों में से कोई भी कुछ भी कहने से बच रही है।

वहीं खबर यह भी है कि फिल्पकार्ट में हिस्सेदारी और उसे खरीदने से संबंधित खबर को अमेजॉन ने खारिज कर दिया है। कंपनी के मुताबिक ऐसी किसी भी डील की संभावना नहीं है। दूसरी तरफ इस मामले में फिल्पकार्ट ने भी कुछ भी कहने से मना कर दिया है। हालांकि फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए अमेजॉन का ऑफर और वॉलमार्ट की हिस्सेदारी में दिलचस्पी इस बात को साफ दिखाती है कि दोनों दिग्गजों के मुकाबला जबरदस्त है।

यह भी पढ़ें -   दस रूपये के सिक्के को लेकर क्या है RBI की गाइडलाइन

तो ये है निरहुआ की असली पत्नी, जानें कौन । Who is real wife of Nirahua

खबरों के मुताबिक इस वक्त फिल्पकार्ट कंपनी की कुल वैल्यू 21 अरब डॉलर है। यदि फिल्पकार्ट की डील वॉलमार्ट के साथ होती है तो फिल्पकार्ट और भी बड़ी कंपनी हो जाएगी। ऐसी भी खबरें हैं कि अमेजॉन ने भारतीय ई-कॉमर्स बाजार में अपने विस्तार के लिए 5 अरब डॉलर निवेश करने की एक रूपरेखा भी तैयार कर ली है।

गौरतलब है कि फिल्पकार्ट की स्थापना ऐमजॉन के पूर्व एंप्लॉयीज रह चुके सचिन एवं बिन्नी बंसल ने साल 2007 में की थी। दोनों बंसल बंधुओं की कंपनी में करीब 40 फीसदी की हिस्सेदारी है। अमेजॉन के संस्थापक जेफ बेजॉस की तरह ही इन दोनों भाईयों ने भी फिल्पकार्ट की शुरूआत किताब बेचने से की थी। फिर बाद में दोनों ने मिलकर कंपनी को बड़ी ही तेजी से विस्तार दिया और आज फिल्पकार्ट देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी है और भारतीय बाजार में फिल्पकार्ट की हिस्सेदारी 40 फीसदी है। अभी फिल्पकार्ट स्मार्टफोन की फ्लैश सेल्स लाने के साथ-साथ सभी 11 कैटिगरीज में ऐमजॉन से प्रतिस्पर्धा कर रही है।

यह भी पढ़ें -   सरकार ने किया 11.44 लाख पैन नंबर रद्द, पता करें अपने पैन के बारे में

यह भी पढ़ें-

ग्लैमर की दुनिया की ये महिला कलाकार जिन्होंने खुदकुशी कर ली

ओमपुरी के पांच ऐसे बयान जिसके कारण उनको माफी मांगनी पड़ी

आने वाली है सबसे तेज टेक्नोलॉजी, प्लेन से भी पहले पहुंचाएगी गन्तव्य स्थान पर


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *