बिक सकती है फिल्पकार्ट, इन कंपनियों में मची फिल्पकार्ट को खरीदने की होड़

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन ई-कॉमर्स कंपनी फिल्पकार्ट बिकने वाली है। अभी देश में अमेजॉन और फिल्पकार्ट में कड़ी टक्कर है। फिल्पकार्ट अमेजॉन को ई-कॉमर्स के क्षेत्र में कड़ी टक्कर दे रही है। हालांकि फिल्पकार्ट अभी दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वॉलमार्ट से गठजोड़ करने की सोच रही है। दरअसल, ऐमजॉन और वॉलमार्ट, दोनों ही अमेरिकी कंपनियां हैं जो भारत के ऑनलाइन रिटेल स्पेस में अपना दबदबा कायम करने की कोशिश कर रही हैं।

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

खबरों के मुताबिक अमेजॉन ने फ्लिपकार्ट के बड़े हिस्से की खरीदारी की संभावना तलाशने के लिहाज से शुरुआती चर्चा की है लेकिन बिजनस न्यूजपेपर मिंट के मुताबिक फ्लिपकार्ट की डील वॉलमार्ट के साथ होने की ज्यादा संभावना है। बता दें कि अभी के समय में भारतीय बाजार में अमेजॉन और फ्लिपकार्ट का इंडियन ऑनलाइन मार्केट पर दबदबा है। जानकारों के मुताबिक हालांकि ऐसी संभावना कम ही है कि फिल्पकार्ट की डील अमेजॉन के साथ हो। लेकिन अगर फिल्पकार्ट की डील अमेजॉन के साथ हो जाती है तो भारत में अमेजॉन का एकछत्र राज हो जाएगा।

हालांकि इस मामले में अभी अमेजॉन कुछ भी टिप्पणी करने से इन्कार कर दिया है। बताया जा रहा है कि वॉलमार्ट की बातचीत फ्लिपकार्ट में 40 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने की चल रही है। ऐसा हुआ तो वॉलमार्ट की विदेश में अब तक की सबसे बड़ी डील होगी। इस डील से वॉलमार्ट को भारत के ई-कॉमर्स मार्केट में कदम रखने का मौका मिल जाएगा। कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए दो बड़ी कंपनियों ने ऑफर करने का मन भी बना लिया है।

यह भी पढ़ें -   Amazon के इस नए ब्राउजर में कुछ भी सर्च करो, किसी को कुछ भी पता नहीं चलेगा

सैम मानेकशॉ ने जब इंदिरा गांधी को कहा था, ‘मैं तैयार हूं स्वीटी’

मॉर्गन स्टैनली के अनुसार, इंडियन ई-कॉमर्स मार्केट अगले 10 सालों में 200 अरब डॉलर का हो जाएगा। जिस गति से इस बाजार में संभावनाएँ बढ़ रही है, दोनों ही कंपनियां भारत में अपना बिजनेस बढ़ाने की सोच रही है। लेकिन भारत में फिल्पकार्ट के प्रति ग्राहकों के विश्वास को देखते हुए वे ऐसा करने में फिसल रहे हैं। लिहाजा ऐसा संभावना है कि दोनों ही कंपनियां फिल्पकार्ट के एक बड़े हिस्से को खरीदने के लिए फिल्पकार्ट को रकम ऑफर कर सकती है। लेकिन अभी इस मामले में दोनों कंपनियों में से कोई भी कुछ भी कहने से बच रही है।

यह भी पढ़ें -   एक सितंबर से बैंकिंग नियमों हो जाएगा यह बदलाव, आप पर भी होगा असर

वहीं खबर यह भी है कि फिल्पकार्ट में हिस्सेदारी और उसे खरीदने से संबंधित खबर को अमेजॉन ने खारिज कर दिया है। कंपनी के मुताबिक ऐसी किसी भी डील की संभावना नहीं है। दूसरी तरफ इस मामले में फिल्पकार्ट ने भी कुछ भी कहने से मना कर दिया है। हालांकि फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए अमेजॉन का ऑफर और वॉलमार्ट की हिस्सेदारी में दिलचस्पी इस बात को साफ दिखाती है कि दोनों दिग्गजों के मुकाबला जबरदस्त है।

तो ये है निरहुआ की असली पत्नी, जानें कौन । Who is real wife of Nirahua

खबरों के मुताबिक इस वक्त फिल्पकार्ट कंपनी की कुल वैल्यू 21 अरब डॉलर है। यदि फिल्पकार्ट की डील वॉलमार्ट के साथ होती है तो फिल्पकार्ट और भी बड़ी कंपनी हो जाएगी। ऐसी भी खबरें हैं कि अमेजॉन ने भारतीय ई-कॉमर्स बाजार में अपने विस्तार के लिए 5 अरब डॉलर निवेश करने की एक रूपरेखा भी तैयार कर ली है।

यह भी पढ़ें -   घर खरीदने वालों के लिए जीएसटी काउंसिल ने लिए दो बड़े फैसले

गौरतलब है कि फिल्पकार्ट की स्थापना ऐमजॉन के पूर्व एंप्लॉयीज रह चुके सचिन एवं बिन्नी बंसल ने साल 2007 में की थी। दोनों बंसल बंधुओं की कंपनी में करीब 40 फीसदी की हिस्सेदारी है। अमेजॉन के संस्थापक जेफ बेजॉस की तरह ही इन दोनों भाईयों ने भी फिल्पकार्ट की शुरूआत किताब बेचने से की थी। फिर बाद में दोनों ने मिलकर कंपनी को बड़ी ही तेजी से विस्तार दिया और आज फिल्पकार्ट देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी है और भारतीय बाजार में फिल्पकार्ट की हिस्सेदारी 40 फीसदी है। अभी फिल्पकार्ट स्मार्टफोन की फ्लैश सेल्स लाने के साथ-साथ सभी 11 कैटिगरीज में ऐमजॉन से प्रतिस्पर्धा कर रही है।

यह भी पढ़ें-

ग्लैमर की दुनिया की ये महिला कलाकार जिन्होंने खुदकुशी कर ली

ओमपुरी के पांच ऐसे बयान जिसके कारण उनको माफी मांगनी पड़ी

आने वाली है सबसे तेज टेक्नोलॉजी, प्लेन से भी पहले पहुंचाएगी गन्तव्य स्थान पर


मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें और ट्विटरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Join Whatsapp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।