दूसरों को खतरे में ना डालें कोरोना पीड़ित : वीरेंद्र सहवाग

कोरोना वायरस

नई दिल्ली। भारत के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कोरोना वायरस से पीडि़त लोगों से अपील करते हुए कहा है कि वह अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए अपना इलाज कराएं और दूसरों को खतरे में नहीं डालें। वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट कर लोगों से कहा कि मैं उन सभी लोगों से विनम्र विनती करता हूं जो कोरोना वायरस के संदिग्ध है या इससे संक्रमित है।

उन्होंने कहा कि वे अपना इलाज कराएं और दूसरों को खतरे में नहीं डालें। कृपया जिम्मेदार बनें। सहवाग से पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी लोगों को एहतियात बरतने की सलाह दी थी। विराट कोहली ने शनिवार को ट्वीट कर कहा था, एहतियातन उपाय कर मजबूती से कोरोना वायरस से लड़ें। सुरक्षित रहें, सतर्क रहें और यह याद रखें कि इलाज से बेहतर है रोकथाम। आप सभी अपना ख्याल रखें।

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस की चपेट में विश्व के 116 देश आ चुके हैं और इससे संक्रमित 5,947 लोगों की मौत हो गयी है जबकि 156,573 लोग इससे संक्रमित हुए हैं।

यह भी पढ़ें -   India-South Africa T-20 : इन खिलाड़ियों पर रहेगी विशेष नजर
खाली स्टेडियम में सौंपी जाएगी ओलंपिक मशाल

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए ओलंपिक के जन्मदाता स्थल एथेंस में टोक्यो 2020 ओलंपिक खेलों की मशाल खाली स्टेडियम में सौंपी जाएगी। यूनान ओलंपिक समिति ने रविवार को एक बयान में यह जानकारी दी।

यूनान ने गत शुक्रवार को ओलंपिक मशाल की घरेलू रिले को रद्द कर दिया था ताकि इसे देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा ना हो। समिति ने कहा, ओलंपिक खेलों की मशाल सौंपने का समारोह 19 मार्च को होना है और यह खाली स्टेडियम में किया जाएगा जहां दर्शकों की उपस्थिति नहीं होगी।

यह भी पढ़ें -   फ्रेंच ओपन रद्द, वर्ल्ड कप विनर मातउइदी और जकागनी कोरोनो से पीडि़त

बता दें कि ओलंपिक खेलों के स्थल एथेंस स्टेडियम में ओलंपिक मशाल को मेजबान शहर को सौंपने के लिए 1896 से ही हजारों दर्शक जुटते रहे हैं। यूनान देश में भी कोरोना के 228 मामलों की पुष्टि हुई है। ओलंपिक 2020 की मेजबानी इस बार जापान कर रहा है। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा है कि इन खेलों का आयोजन तय कार्यक्रम के अनुसार किया जाएगा।