आरोग्य सेतु ऐप: जानिए क्यों महामारी से लड़ने वाले ऐप पर हो रहा सियासी घमासान?

आरोग्य सेतु ऐप

नई दिल्ली। केंद्र सरकार का आरोग्य सेतु ऐप कोरोना संक्रमण से जुड़ी जानकारी जुटाने में संभव सिद्ध हुआ है। आरोग्य सेतु ऐप लॉन्च होने के बाद कुछ ही समय में दो करोड़ से अधिक लोगों ने इसे डाउनलोड किया है। मालूम हो कि इस ऐप को आप अपने एंड्रॉयड और आईफोन दोनों तरह के स्‍मार्टफोन में डाउनलोड कर सकते हैं।

 कैसे मदद करता है यह ऐप?

सरकार के इस आरोग्य सेतु एप के जरिए लोग अपने आसपास में मौजूद कोरोना पॉजिटिव लोगों के बारे में आसानी से पता लगा सकते हैं। इस ऐप के जरिए कोरोना संक्रमितों पर प्रशासन के जरिए निगरानी भी रखी जा रही है। बता दें कि आरोग्य सेतु ऐप 11 भाषाओं में लोगों के लिए उपलब्ध कराया गया है कि ताकि लोग आसानी से अपनी भाषा में जानकारी प्राप्त कर सकें।

यह भी पढ़ें -   Idea का धमाका आफर, पाएं 10 जीबी डाटा मुफ्त

क्यों सियासी घमासान का कारण बना यह ऐप?

इस ऐप को यूज करने के लिए आपके मोबाइल के ब्लूटूथ, स्थान और मोबाइल नंबर का उपयोग किया जाता है। वहीं इस ऐप के उपयोग के लिए लाइव लोकेशन को ऑन करके रखना पड़ता है। इससे यदि आप किसी भी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के आसपास आते हैं तो यह ऐप आपको अलर्ट कर देता है।

सरकार ने इस ऐप को कोरोना से संक्रमित लोगों को नजर रखने तथा लोगों को काफी हद तक कोरोना की संभाविक जानकारी जुटाने के लिए उपयोग करने का आग्रह किया है। लेकिन अब इस आरोग्य सेतु ऐप पर कांग्रेस समेत बाकी विपक्ष ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

यह भी पढ़ें -   जियो फोन की प्री बुकिंग शुरू, ऐसे करें प्री बुकिंग

राहुल गांधी ने सरकार पर निशाना साधते करते हुए कहा कि सरकार लोगों के डाटा को चुराने का काम कर रही है। कुछ विपक्षी नेताओं ने कहा कि सरकार कोरोना को ताली और थाली से निपटाने की कोशिश कर रही है। इसपर बीजेपी के एक नेता ने कहा कि आज लोगों के डाटा चोरी होने से ज्यादा उनकी जिंदगी मायने रखती है।