दही खाने के फायदे और नुकसान, दही का सेवन कब नहीं करना चाहिए?

दही खाने के फायदे और नुकसान

दही का सेवन हमारे घरों में कमोबेश रोज ही होता है। दही का सेवन स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है यह तो आपने जरूर सुना होगा लेकिन क्या दही खाने के फायदे के साथ-साथ नुकसान भी होते हैं? आयुर्वेद के अनुसार, यदि दही का सेवन गलत समय पर किया जाए तो यह नुकसान करता है।

दही कैसे बनता है?

दूध में बैक्टीरिया मिलाने से दही तैयार होता है। घर में पहले से मौजूद दही की थोड़ी मात्रा को हल्के गर्म दूध में मिलाने के 8 से 10 घंटे बाद दही बनकर तैयार हो जाता है। इस क्रिया को फर्मेंटेशन कहा जाता है। हल्के गर्म दूध में जोरन (थोड़ी सी दही) मिलाने से यह गाढ़ा हो जाता है। दही बनने के बाद यह खाने में खट्टा और क्रीमी हो जाता है। ऐसा बैक्टीरिया के कारण होता है।

दही हमारे शरीर के लिए बेहद ही फायदेमंद होता है। यह हमारे पाचन क्रिया को बेहतर बनाता है और साथ दांत और हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है। दही से घरों में कई तरह के व्यंजन भी बनाए जाते हैं। इसके अलावा दही का उपयोग त्वचा को सुंदर बनाने और बालों से रूसी (ड्रैंडफ) को दूर के लिए भी होता है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस से जंग - 7 दिन में दिखे यह लक्षण तो करवाएं जाँच
दही में क्या-क्या पाया जाता है?

दही में खाद्य तत्वों की मात्रा (100 ग्राम दही के हिसाब से)
कैलोरी – 98 ग्राम
फैट- 4.3 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल – 17 मिलीग्राम
सोडियम – 364 मिलीग्राम
पोटैशियम – 104 मिलीग्राम
कार्बोहाइड्रेट्स – 3.4 ग्राम
शुगर – 2.7 ग्राम
प्रोटीन – 11 ग्राम

हल्के सफेद रंग का दिखने वाला दही अच्छा होता है। यह दही स्वास्थ्य और तंदरुस्ती के लिए जाना जाता है। इसमें कई प्रकार के जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। विटामिन-बी12, विटामिन-बी2, पोटैशियम और मैग्नीशियम के साथ-साथ प्रोटीन भी पाया जाता है।

दही खाने के फायदे – Benefits of Eating Yogurt

पेट और आंतों के लिए फायदेमंद – दही खाना हमारे पेट और आंतों के लिए फायदेमंद होता है। दही में कई तरह के अच्छे बैक्टीरिया पाये जाते हैं। यह हमारी पाचनक्रिया को मजबूत बनाती है। इसके साथ-साथ दही में पाये जाने वाले अच्छे बैक्टीरिया हमारे इम्यूनिटी सिस्टम को बढ़ाता है।

पेट को ठंडक प्रदान करता है – सुबह-सुबह दही का सेवन करने से पेट ठंडा रहता है। नाश्ते के समय दही और चीनी खाने से पेट में ठंडक रहती है। पेट में जलन की समस्या और पेट में अम्लता की मात्रा कम होती है। दही खाने से पित्त दोष कम होता है। सुबह खाली पेट दही खाने से पूरे दिन शरीर एनर्जी से भरपूर रहता है।

यह भी पढ़ें -   दही खाने के नुकसान, रात में दही का सेवन करना जहर के समान होता है

टॉयलेट में जलन की समस्या करे दूर – दही का सेवन करने से सिस्टिटिस और यूटीआई की समस्या नहीं होती है। दही मूत्राशय को ठंडा रखता है, इससे टॉयलेट में जलन की समस्या नहीं होती है। जो लोग पानी कम पीते हैं उन्हें दही खाने की सलाह दी जाती है।

दिमाग और शरीर तुरंत ऊर्जा देता है – दही चीनी खाने से हमारे शरीर में तुरंत ही ऊर्जा (ग्लूकोज) संचार होता है। घर से बाहर निकलने से पहले दही चीनी खाने से शरीर में ग्लूकोज की मात्रा प्रयाप्त रहती है। इससे शरीर दिनभर ऊर्जावान रहता है। शरीर में प्रयाप्त मात्रा में ऊर्जा होने से दिमाग को ऊर्जा सही मात्रा मिलती है। इससे कोई भी काम करने में मन लगा रहता है।

पचाने में आसान- दूध को पचने में जहां ज्यादा समय लगता है तो वहीं दही जल्दी पच जाता है। दही में प्रोटीन मौजूद होता है। दही में मौजूद प्रोटीन जल्दी पच जाता है। दही पेट का हल्का रखता है। जिन्हें पाचन की समस्या होती है उन्हें सुबह-सुबह दही या छाछ पीना चाहिए। यह पेट के लिए फायदेमंद होता है।

यह भी पढ़ें -   सेब खाने के फायदे - सेब खाने से कई गंभीर बीमारियों का नाश होता है
दही में कौन-कौन से पोषक तत्व पाए जाते हैं?

दही में विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन सी, फोलेट, विटामिन बी-2, विटामिन बी -12, विटामिन पाइरिडोक्सिन, कैरोटिनॉइड जैसे विटामिन्स पाए जाते हैं। इनकी मात्रा दही में प्रचुर होती है। यह विटामिन शरीर को फिट रखने में मददगार होते हैं। इसलिए दही के सेवन करने की सलाह दी जाती है।

रात में दही खाने के नुकसान – Side Effect of Yogurt Eating at Night

कई लोगों के मन में यह सवाल होता है कि दही का सेवन कब नहीं करना चाहिए? दिन में दही खाने के क्या फायदे होते हैं और रात में दही खाने के क्या नुकसान होते हैं? रात में दही का सेवन नहीं करने की सलाह दी जाती है। आइए जानते हैं रात में दही खाने के नुकसान क्या-क्या होते हैं?