केंद्रीय मंत्री उमा भारती का दावा, मुख्यमंत्री रहते बलात्कारियों को टॉर्चर करने का तरीका अपनाया

नई दिल्ली। यूपी के आगरा में गुरुवार को एक रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने दावा किया कि जब वो 2003-04 में मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री थी तो बलात्कारियों को टॉर्चर करने का तरीका अपनाया था। जिससे अपराधी थर-थऱ कांपते थे। मीडिया में खबरोंं के मुताबिक उमा भारती ने कहा कि बलात्कारियों को तबतक पीटना चाहिये जबतक उनकी खाल ना उधड़ जाय।

उमा ने आगे कहा कि उसके बाद उन जख्मों पर नमक और मिर्च रगड़ने चाहिए ताकि वो रहम की भीख मांगे। उन्होंने कहा कि जब वो सीएम थी तो उन्होंने ऐसा ही किया था। उन्होंने कहा कि जब एक पुलिस वाले ने ऐसा करने पर आपत्ति जताई तो उन्होंने पुलिस वालों से कहा कि रेपिस्टों का कोई मानवाधिकार नहीं होता। उमा भारती ने रैली को संबोधित करते हुए अखिलेश की पत्नी डिंपल यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि वो पार्टी के लिये वोट तो मांग रही है लेकिन रेप पीड़िताओं से मिलने का समय नहीं है।

बता दें कि यूपी में पहले चरण के मतदान के लिए प्रचार का सिलसिला थम गया है। राज्य के 15 जिलों की 73 विधानसभा सीटों के लिए 11 फरवरी को मतदान होना है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना वायरस का कहर - चीन से भाग रहे कंपनियों को बिहार बुलाने की तैयारी