मंदिर में बिल्ली दिखना किस बात का संकेत होता है?

मंदिर में बिल्ली दिखना

Mandir me Billi Dikhana: हिंदू धर्म में जानवरों को लेकर कई प्रकार के शुभ-अशुभ घटनाओं के बारे में बताया गया है। मंदिर में बिल्ली दिखना दक्षिण भारत में अच्छा माना जाता है। कर्नाटक में एक मंदिर में बिल्ली की पूजा भी होती है। धार्मिक कहानियों में आमतौर पर गाय, कुत्ता, बिल्ली, कबूतर, सांप इत्यादि के बारे में उल्लेख मिलता है। कुछ जानवरों को हिंदू देवी देवताओं की सवारी भी माना जाता है। जैसे गणेश की सवारी चूहा को माना जाता है।

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

बिल्ली को काली शक्ति का प्रतीक माना जाता है। बिल्ली को लेकर कई प्रकार के शुभ अशुभ बातें होती रहती है। हालांकि आजकल कई लोग घर में बिल्ली को पालते भी हैं। कई जगहों पर बिल्ली को अत्यंत ही शुभ माना जाता है इसलिए उसे पालने का चलन भी है। लेकिन धर्म शास्त्रों के अनुसार, बिल्ली को मां लक्ष्मी की बहन अलक्ष्मी का वाहन माना जाता है।

Follow us on Google News

वास्तु शास्त्र में बिल्लियों को नकारात्मक ऊर्जा का स्रोत माना गया है। इसलिए घर में बिल्ली का दिखना अच्छा नहीं माना जाता है। हालांकि कई ऐसे संकेत भी है जो बेहद शुभ होते हैं और इसे घर में संपत्ति बढ़ने के संकेत माने जाते हैं। पढ़ें- सुबह को बिल्ली देखना या बिल्ली की आवाज सुनाई देना क्या संकेत करता है?

यह भी पढ़ें -   कौवा को रोटी खिलाने से होते हैं कई लाभ, जानिए इन 10 फायदों को

बिल्ली के अशुभ संकेत

नारद पुराण के अनुसार, घर में यदि बिल्ली बार-बार आती है तो यह अच्छा नहीं माना जाता है। घर में बिल्ली का बार-बार आना इस बात का संकेत होता है कि कोई ना कोई अनहोनी होने वाली है। शास्त्रों के मुताबिक, घर में रखा दूध यदि बिल्ली पी जाती है या फिर उसमें मुंह मार देती है तो यह धन हानि होने का संकेत माना जाता है।

यदि घर में बिल्ली मल त्याग कर दे तो यह किसी अनहोनी की संभावना को बढ़ाता है। हालांकि इसके विपरीत दक्षिण की परंपराओं में बिल्ली को शुभ माना गया है। वहां पर बिल्ली को बुरी शक्तियों से व्यक्ति की रक्षा करने वाला बताया गया है। कर्नाटक के मांड्या जिले से 30 किलोमीटर दूर बेक्का लेले गांव में दिल्ली का एक मंदिर बना हुआ है। यहां पर पिछले 1000 वर्षों से बिल्ली की पूजा की जाती है। यहां पर बिल्ली को देवी मंगम्मा का अवतार माना जाता है।

यह भी पढ़ें -   After Marriage Vastu: शादी के बाद बाल काटना चाहिए या नहीं?

वहीं दूसरी तरफ भारत के बाहर चीन और जापान में बिल्ली को काफी शुभ माना जाता है। चीन और जापान में लोग बिल्ली पालते हैं। वहां पर कुत्तों से ज्यादा बिल्लियों का पालना लोग ज्यादा पसंद करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि सफेद बिल्ली पालने से आर्थिक स्थितियों में सुधार होता है।

मंदिर में बिल्ली दिखना

कई बार ऐसा होता है कि हम लोग जब पूजा करने जाते हैं तो मंदिर में कई प्रकार के जानवर देखने को मिलते हैं। यदि मंदिर में बिल्ली दिखाई दिया है तो हो सकता है कि कोई शुभ शक्ति आपको किसी प्रकार का संकेत देना चाहता हो। मंदिर में बिल्ली दिखना कई बार शुभ भी माना जाता है। हालांकि मंदिर के सामने यदि काली बिल्ली दिखाई देती है तो यह अच्छा नहीं माना जाता है। यदि मंदिर से निकलते वक्त बिल्ली रास्ता काट दे तो कुछ देर तक मंदिर में ही रुक जाएं और फिर बाहर जाएं।

बिल्ली का बच्चा पैदा होना

यह भी पढ़ें -   बुधवार को किस देवता की पूजा की जाती है? जानिए व्रत करने के फायदे और नियम

यदि आपके घर में बिल्ली ने बच्चे दिए हैं तो यह संकेत होता है कि जल्द ही आपके घर में कोई शुभ कार्य होने वाला है। वैसे घर में कोई भी जानवर बच्चा देता है तो इसे शुभ माना जाता है। घर में बिल्ली का बच्चा पैदा होना इस बात का संकेत होता है कि आपके घर में भी कुछ मांगलिक कार्य हो सकते हैं या आपको कोई सुखद समाचार प्राप्त हो सकता है। इस बात का ध्यान रखें कि बिल्ली के बच्चों को हाथ ना लगाएं हैं और ना ही उन्हें कोई हानि पहुंचाएं।

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

Follow us on Google News

देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।