धर्मक्षेत्र

गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करें? छिपकली को मारना नहीं चाहिए

छिपकली से जुड़े कई सवाल हम सबके मन में होता है। घर में यदि गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करना चाहिए? यदि घर में मरी हुई छिपकली दिखे या मिले तो क्या करें? घर में अधिक छिपकली होने से क्या होता है? ऐसे ही कितने ही सवाल होते हैं जिनका जवाब हमें नहीं पता होता है। आइए जानते हैं कि गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करें?

हम सभी के घरों में छिपकली पाई जाती है। छिपकली का मुख्य भोजन कीड़े-मकोड़े होते हैं। कई बार घर में बहुत ज्यादा छिपकलियां हो जाती है। ऐसे में घर में छिपकली को मारे नहीं बल्कि उसे बाहर भगा दें। घर में यदि छिपकली हो तो उसे मारना नहीं चाहिए। पढ़ें – छिपकली भगाने के तरीके

गलती से छिपकली मर जाए तो क्या करें?

वैसे तो छिपकली हर दिन दिखाई देता है लेकिन यदि यह दीवाली की रात दिख जाए तो यह शुभ संकेत होता है। छिपकली को माता लक्ष्मी का रूप भी माना जाता है। दीवाली के दिन सफाई करते वक्त अगर मरी हुई छिपकली दिख जाए तो यह अशुभ संकेत होता है।

घर में सफाई करते वक्त छिपकली या छिपकली का बच्चा गलती से मर जाए तो तरंत ही उसका संस्कार कर दें। छिपकली को हिंदू धर्म में मारने से मना किया गया है। छिपकली को मारना पाप माना गया है। इसलिए घर में छिपकली हो तो उसे गलती से भी नहीं मारना चाहिए।

घर में यदि ज्यादा छिपकली हो गई है तो उसे भगा दें। इसके लिए लहसून का प्रयोग कर सकते हैं। लहसून की सुगंध को छिपकली बर्दास्त नहीं कर पाती है। जहां पर घर में छिपकली आती जाती रहती है, वहां पर लहसून काटकर रख दें। छिपकली धीरे-धीरे आपके घर से गायब हो जाएगी। इसके अलावा छिपकली को भगाने के लिए अंडे का छिलका, नेप्थलीन (फेनाइल) की गोलियों का प्रयोग कर सकते हैं। इससे आपके घर में छिपकली नहीं आएगी।

Related Post
Share

Recent Posts

Free Fire Redeem Code: 24 January 2022 का फ्री फायर रिडीम कोड कैसे प्राप्त करें

Free Fire Redeem Code: फ्री फायर गेम का रिडीम कोड कैसे प्राप्त करें। आज इस…

Desiremovies Websites List 2022: जहां से नई South Movies Pushpa हुई लीक

Desiremovies Website List 2022: Tamil Rockers की तरह ही Desiremovies Websites भी हाल की रिलीज…

धर्मयात्रा महासंघ के 28 वें स्थापना दिवस व मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर हवन पूजन का कार्यक्रम

धर्मयात्रा महासंघ के 28वें स्थापना दिवस व मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर हवन पूजन…

This website uses cookies.

Read More