जानिए कब है मकर संक्रांति और क्या हैं दान के नियम?

फरीदाबाद। मकर संक्रांति अगर हम अंग्रेजी कलैंड़र के तिथी के अनुसार माने तो 14 जनवरी को ही मनाया जाता है लेकिन इस बार सूर्य मकर राशि में 14 जनवरी को शाम को प्रवेश कर रहे हैं। जिस कारण सूर्योदय के अनुसार सूर्य 15 जनवरी को प्रातः मकर राशि में होंगे। उदया तिथि के अनुसार मकर संक्रांति 15 को ही मनाना अच्छा होगा। हालांकि पुण्यकाल 14 जनवरी को शाम को शुरू हो जाएगा।

मकर संक्रांति के दिन स्नान और दान का खास महत्व माना जाता है। इसलिए हम आपको बता दें कि स्नान 14 तारीख की शाम को भी किया जा सकता है और 15 तारिख को दिन भर स्नान और दान किया जा सकता है।

तो आइए जानते हैं इस बार कैसा रहेगा मकर संक्रांति में ग्रहों का संयोग :-

– इस बार की मकर संक्रांति पर  बृहस्पति और शुक्र का सम्बन्ध होगा।

– साथ ही चन्द्रमा और सूर्य का केंद्रीय सम्बन्ध भी होगा।

– शनि भी बृहस्पति की राशि में विद्यमान रहेंगे।

– अगर इस दिन स्नान दान और ध्यान किया जाए तो विशेष लाभ हो सकता है।

मकर संक्रांति को क्या करें?

– प्रातःकाल स्नान करें, सूर्य को अर्घ्य दें।

– श्रीमदभागवद के कम से कम एक अध्याय का पाठ करें या गीता का पाठ करें।

– वस्त्र, कम्बल, तिल और घी का दान करें।

– भोजन में नए अन्न की खिचड़ी बनाएं।

Show comments

This website uses cookies.

Read More