जानिए क्या कहता है यूपी में लॉकडाउन का नया फॉर्मूला

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार अब कोरोना से बचाव के लिए नया फॉर्मूला अपना रही है। इस फॉर्मूले के अनुसार अब यूपी में हर हफ्ते लॉकडाउन लगने वाला है। बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसे देखते हुए दो दिनों का लॉकडाउन 10 जुलाई की रात 10 बजे से 13 जुलाई 2020 को सुबह 5 बजे तक लागू किया गया है।

हफ्ते में पांच दिन ही खुलेंगे दफ्तर और बाजार

उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए योगी सरकार ने लॉकडाउन का नया फॉर्मूला लागू करने का फैसला लिया है। बदले नियमों के मुताबिक, अब राज्य में सरकारी और सभी प्राइवेट दफ्तर और बाजार हफ्ते में पांच दिन ही खुलेंगे। शनिवार और रविवार को पूर्ण रूप से बंदी रहेगी। हालांकि बंदी के दौरान भी आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। अगर इससे संक्रमण में कुछ कमी आती है तो यह नियम आगे भी जारी रहेगा।

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक के लिए लॉकडाउन शुरू हो चुका है। इस लॉकडाउन के तहत सिर्फ एसेंशियल सर्विसेज से जुड़े हुए लोगों को ही बाहर निकलने की अनुमति है।

क्यों यह लॉकडाउन है पहले से अलग?

इस लॉकडाउन की प्रक्रिया पहले की लॉकडाउन की तुलना में अलग है। पहले लॉकडाउन के दौरान सभी धार्मिक स्थल पूरी तरह से बंद रखे गए थे। लेकिन अनलॉक के पहले चरण की शुरूआत होते ही आम लोगों के लिए प्रदेश के सभी धार्मिक स्थल खोल दिए गए थे। सभी धार्मिक स्थल इस 55 घंटे के लॉकडाउन के दौरान भी खुले हुए हैं। हालांकि इस दौरान वहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए जो दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं, उनका पालन करना अनिवार्य है।

यूपी में 35000 से ज्यादा कोरोना केस

उत्तर प्रदेश में कोरोना के कुल 35 हजार 92 केस हो चुके हैं। राज्य में एक्टिव कोरोना मरीजों की संख्या 11,490 है जबकि 22,689 मरीज ठीक हो चुके हैं। राज्य में कोरोना से 913 लोगों की अबतक मौत हुई है।

Show comments

This website uses cookies.

Read More