सुबह कौवा का बोलना देता है कुछ खास संकेत, जानें इससे जुड़ी मान्यताएं

सुबह कौवा का बोलना

कौवा का घर की छत पर बैठना, कौवा का सुबह-सुबह बोलना, कौवा को रोटी खिलाना, ऐसी ही कितनी बातें हैं जिसको लेकर हमारे मन में कई सवाल होते हैं। कई बार कौवा सुबह-सुबह हमारे घर की छतों पर बोलने लगते हैं। इसके भी कुछ संकेत होते हैं। कौवा को शनिदेव का रूप समझा जाता है। शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए भी कौवों को भोजन देने की मान्यता है।

सुबह सुबह कौवा बोले तो क्या होता है?

कौवा को लेकर कई तरह के शकुन और अपशकुन की मान्यता है। सुबह-सुबह किसी कौवा का घर की छत पर बोलना शुभ संकेत माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि अगर कौवा सुबह-सुबह आपके घर की छत पर आकर बोलता है तो घर में कई मेहमान आने वाला हो सकता है। इसी तरह ऐसा माना जाता है कि यदि घर में कोई छोटा बच्चा अचानक ही पानी से घर का पर्श साफ करने लगे तो इसका मतलब है कि घर में कोई मेहमान आने वाला है।

यह भी पढ़ें -   जन्माष्टमी क्यों और कैसे मनाई जाती है? जानें पूजा विधि

इसी तरह यदि कौवा किसी महिला पर बैठ जाए तो ऐसा कहा जाता है कि उस महिला के पति के जीवन में कोई मुसीबत आने वाली है। इसी प्रकार यदि सुबह के समय कौवा अचानक अपने पैरों से आपके सिर को छू ले तो ऐसा माना जाता है कि जल्द ही आपकी आर्थिक उन्नति होने वाली है।

इसलिए भारतीय संस्कृति में कौवे को भोजन देने की मान्यता है। ऐसा माना जाता है कि कौवे को भोजन कराने से हमारे सभी तरह के पितृ और कालसर्प दोष दूर होते हैं। कौवा को रोटी खिलाने से किसी अनिष्ट और शत्रु का नाश होता है।

यह भी पढ़ें -   घर में इस दिशा से चींटियाँ निकलना होता है शुभ, जानें चमत्कारिक फल

कौवा भगवान शनिदेव का रूप होता है, ऐसा माना जाता है। कौवा को भोजन कराने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और शनिदेव की कृपा हमेशा बनी रहती है। वैसे सभी पशु-पक्षियों को अपने सामर्थ्य के हिसाब से भोजन कराना चाहिए। इससे घर में खुशियाँ और जीवन में समृद्धि आती है।