जानकारियाँ

Capital of Bihar : बिहार की राजधानी कहां है? जानें बिहार की राजधानी का नाम

Capital of Bihar: बिहार भारत के उत्तर में स्थित एक राज्य है। बिहार का इतिहास प्राचीन समय से गौरव में रहा है। बिहार का गौरवमयी इतिहास हमेशा हमारे लिए एक प्रेरणा स्रोत की तरह काम करता है। बिहार को अनेकानेक ऋषि-मुनियों का जन्म स्थल और कर्म स्थल के रूप में जाना जाता है। ऐसे में बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) कहां है, यह जानना बहुत ही आवश्यक हो जाता है।

Capital of Bihar: बिहार की राजधानी

वर्तमान में बिहार की राजधानी पटना है। पटना का पुराना नाम पाटलिपुत्र था। यह दुनिया के चुनिंदा शहरों में है जिन्हें अत्यंत प्राचीन शहर होने का गौरव प्राप्त है। ऐसा गौरव किसी भी शहर के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। दुनिया के बहुत कम शहर ऐसे हैं जिन्हें यह गौरव हासिल है।

वर्तमान पटना जिला जोकि बिहार की राजधानी है, वह प्राचीन समय में भी कई बड़े-बड़े महाजनपदों की राजधानी रही है। गुप्त साम्राज्य के वक्त पटना राजनैतिक और सांस्कृतिक केंद्र था। पटना से ही उस वक्त बंगाल की खाड़ी से लेकर अफगानिस्तान तक की शासन व्यवस्था चलाई जाती थी।

वर्तमान में बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) पटना राजनीतिक केंद्र बिंदु है। बिहार विभाजन के बाद भले ही कुछ हद तक बिहार का महत्व कम हुआ है लेकिन आज भी दिल्ली की सत्ता में बैठने के लिए बिहार के तरफ जरूर देखना पड़ता है। बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं। ऐसे में दिल्ली में सरकार बनाने में बिहार का भी एक खासा योगदान है।

वर्तमान पटना को कई नामों से जाना जाता है। पटना के अन्य नामों में पाटलिग्राम, पाटलिपुत्र, पुष्पपुर, कुसुमपुर, अजीमाबाद और पटना है। ऐसा माना जाता है कि पटना का वर्तमान नाम शेरशाह सूरी के समय से प्रचलित हुआ था। कहा जाता है कि शेरशाह ने इसका नाम पैठना रखा था। बाद में शेरशाह की मृत्यु के बाद अंतिम हिंदू सम्राट हेमचंद्र विक्रमादित्य ने बदलकर पटना कर दिया।

बंगाल विभाजन के बाद पटना को संयुक्त बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) बनाया गया। पटना का इतिहास 490 ईसा पूर्व से होता है। हर्यक वंश के शासक अजातशत्रु ने अपनी राजधानी राजगिरी से बदलकर पटना में स्थापित कर दिया था। जिसके बाद से ही पटना का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया। आजादी से पूर्व उड़ीसा और बिहार की संयुक्त राजधानी पटना थी।

1935 में उड़ीसा को बिहार से अलग करके नया राज्य बनाया गया। जिसके बाद पटना बिहार की राजधानी (Capital of Bihar) बनी और भुवनेश्वर उड़ीसा की राजधानी के रूप में अस्तित्व में आया। 1935 के बाद 2000 में झारखंड के अलग होने के बाद बिहार की राजधानी पटना रहा और झारखंड की राजधानी राँची को बनाया गया। संयुक्त बिहार में राँची बिहार की ग्रीष्मकालीन राजधानी हुआ करती थी।


देश और दुनिया की ताजा खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ। लेटेस्ट न्यूज के लिए हन्ट आई न्यूज के होमपेज पर जाएं। आप हमें फेसबुक, पर फॉलो और यूट्यूब पर सब्सक्राइब कर सकते हैं। खबरों का अपडेट लगातार पाने के लिए हमें गूगल न्यूज पर फॉलो करें।


Share
Published by
Himanshu Suman

Recent Posts

सपने में सांप का डसना होता है इस बात का संकेत, हो जाएं सतर्क

स्वप्न शास्त्र के अनुसार, सपनों का फल हमें अवश्य प्राप्त होता है। हालांकि हर सपनों… Read More

गुरुवार को भगवान विष्णु की पूजा कैसे करें? जानें उचित तरीका

गुरुवार को विष्णु पूजा करने से जीवन में आर्थिक तंगी खत्म होती है। माँ लक्ष्मी… Read More

बुधवार को किस देवता की पूजा की जाती है? जानिए व्रत करने के फायदे और नियम

हमारे धर्म शास्त्रों में प्रत्येक दिन को किसी ना किसी देवता को समर्पित किया गया… Read More

ATM PIN Full Form – ATM पिन का फुलफॉर्म क्या होता है?

ATM PIN Full Form in Hindi - आज हम लोग जानेंगे कि एटीएम के पिन… Read More

This website uses cookies.