पत्थबाजों को सेना प्रमुख का सख्त संदेश, पत्थर के बदले मिलेगी गोली

नई दिल्ली। पत्थरबाजों को लेकर सेना प्रमुख के बयान के बाद फिर से श्रीनगर में पत्थरबाज सड़क पर उतर आए हैं। हालांकि जवाब के तौर पर सेना ने संयम का परिचय दिया और पत्थर के जवाब में गुलेल चलाये। उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए सुरक्षा बलों ने आंसू गैस का प्रयोग किया और लाठियां भी बरसाई। दरअसल सेना प्रमुख बिपिन रावत ने पत्थरबाजों की हरकतों को देखते हुए खुले शब्दों में कहा था कि पत्थर बरसाओगे तो गोली खाओगे।

सेना प्रमुख के बयान के बाद विपक्षी दलों में कोहराम मच गया है। कांग्रेस और अलगाववादी दलों के नेता सेना प्रमुख के बयान पर बिफरे हुए हैं। बीजेपी ने रावत के बयान पर विपक्षी पार्टियों से कहा है कि सेना के मामले में राजनीति न करें। बीजेपी ने कहा कि कश्मीर में सत्ता से बाहर होने के बाद नेशनल कॉन्फ्रेंस ने अलगाववादियों की भाषा अपना ली है। वहीं सेना प्रमुख ने कश्मीर में आतंकियों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि सीमापार से दहशतगर्दों की नापाक साजिश को नाकाम करने के लिए नयी रणनीति बनायी गयी है।

कश्मीर में पथराव की बढ़ती घटनाओं के बीच खुफिया जानकारी के मुताबिक आतंकी आने वाले दिनों में पत्थरबाजी के दौरान पेट्रोल बम की जमकर इस्तेमाल कर सकते हैं। सेना ने पिछले एक महीने के दौरान करीब 12 से 15 ऑपरेशन में 13 से 15 खूंखार आतंकियों को मार गिराया है। जिससे दहशतगर्द बिफरे हुए हैं। बता दें कि हाल ही में उरी हमले के बाद ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने सेना पर पेट्रोल बम से हमला किया था।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करें